….अपने मित्रों की सहायता की आवश्यकता पडती है।

अपि संपूर्णता युक्तैः कर्तृव्या सुहृदो बुधैः।
नदीशः परिपूर्णोऽपि चन्द्रोदयमपेक्षते।।

जिस प्रकार समुद्र को अथाह जल राशि के होते हुए भी ज्वार उत्पन्न करने के लिए चन्द्रमा की आवश्यकता पडती है।
उसी तरह सर्वगुण संपन्न विद्वान् व्यक्ति को भी किसी विशेष कार्य को संपन्न करने के लिये अपने मित्रों की सहायता की आवश्यकता पडती है।

The Ocean, which is full to the brim with water, needs the Moon to raise its water level in the sky and to create high tide.
Similarly learned persons, well versed in various disciplines of learning, need the assistance of their friends for accomplishing a particular task.

मित्र बनायें।

शुभ दिन हो।

🌸🌹💐🙏🏼

मास्टर जी ने कल शाम Student को बीयर पीने बुलाया है.

☺☺😊😊
एक मास्टर जी ने Student से पूछा …
मास्टर जी – ग़ज़ल और भाषण में क्या अंतर है ??
Student- पराई स्त्री का हर शब्द ग़ज़ल है…
और अपनी बीबी का हर शब्द भाषण !!

  • मास्टर जी ने कल शाम Student को बीयर पीने बुलाया है..!😊😊😊

Click this link and earn 10 NP Or buy product to get 50 SP
View portfolio

Point Store

Patanjali Cows Ghee, 500ml

Rs. 290
4 new from Rs. 290.00
Free shipping
Buy This Item
amazon.in
as of 18/10/2017 9:21 am

Features

  • Pure cow ghee

Click this link and earn 10 NP Or buy product to get 50 SP

ससुराल के खाने का मीनू

😊पहला साल😊

पूड़ी,
दो तरह की सब्जी,
बासमती चावल,
पनीर,
रायता,
सलाद,
लिज्जत-पापड़,
अंत में दो पीस मीठा, वो भी जबरदस्ती, ये बोलकर कि खा लो दामाद जी कुछ नही होगा सोते समय हाजमोला या
तो बंगला पत्ती वाला मीठा पान खा लेना

😌तीसरा साल😌
पूड़ी
एक सब्जी,
सोनम चावल,
आलू दम,
सलाद,
माहेश्वरी पापड़।
रात में सोते समय दो पीस बालूशाही।

😯पांचवा साल😯

रोटी,
आलू परवल की सब्जी,
चावल,
गोभी फ्राई,
खाली प्याज टमाटर की सलाद, लोकल पापड़।
रात मे सोते समय
सूजी का हलवा

😳सातवाँ साल😳

रोटी
आलू सोयाबीन बड़ी की सब्जी,
कुंदरू की भुजिँया,
चौकोर कटी प्याज की सलाद,
अचार।
सोते समय पूछा दामाद जी दूध पियेंगे क्या ????

नौवा साल

चाय और मिक्स दालमोट
दे के पूछा कि
खाना खावोगे क्या दामाद जी ?

तो बाजार चलो साथ कुछ सब्जी ले आई जाय

😡ग्यारहवाँ साल😡

नीबू की चाय
और बिस्किट
और पूछा इधर कैसे दामाद जी कोई काम था क्या इस तरफ ???
आज रुकेंगे न ?

👊तेरहवाँ साल 👊

कैसे हो दामाद जी
जल्दी न हो तो चाय पीकर जाना । । । ।

👿पंद्रहवाँ साल 👿

अरे दामाद बाबू आये है
कोई चाय पानी तो पूछ लो

👹सत्रहवाँ साल 👹

अरेरेरेरे- – – – – – – – –
कुछ ऐसा सैयोग हुआ की दामाद जी को चाय भी नही पूछ पाये

😭उन्नीसवाँ साल😭

का हो दामाद बाबु सुना है
चाय पीना छोड़ दिया
तो कोई जरुरी भी नही था कि बीमार सरीर लेकर ससुराल आया जाय
फालतू में खुद भी परेशान हो और दुसरो को भी परेशान करो
अपने ऊपर ध्यान दो और
चुपचाप अपने घर मे ही रहो।
😜😜😜😜😜😜😜😜😜😜
आपकी शादी के कितने साल हुये।
😥😥😭😥😥

तकदीर मे जो लिखा है उसकी फर्याद न कर…

“गुजरी हुई जिंदगी को
कभी याद न कर,

तकदीर मे जो लिखा है
उसकी फर्याद न कर…

जो होगा वो होकर रहेगा,

तु कल की फिकर मे
अपनी आज की हसी
बर्बाद न कर…

🍥🌺🌹. Good Morning 🌹🌺🍥

” गीता ” मे लिखा है – निराश मत होना

🌺” गीता ” 🌺मे लिखा है 🍃
🍃🌷निराश मत होना ,
🌷🍃कमजोर तेरा वक्त है ,
🌷🍃” तु ” नहि । 🍃🍃🍃
‘ज़िन्दगी’ में कभी किसी ‘बुरे दिन’ से
सामना हो जाये तो…..🌷🍃🍃
इतना ‘हौसला’ जरूर रखना –
‘दिन’ बुरा था….. ‘ज़िन्दगी’ नहीं…..

🙏🌺🍃 सुप्रभात 🍃🌺🙏
🙏🏼🌺 जय भोले🌺🙏🏼
🍃😊 आपका दिन आनंदमय हो 🍃

दूसरों को नसीहत देना तथा आलोचना करना सबसे आसान काम है…

⚡⚡🌩⛈🌧🌦☁⚡⚡
🌇शुभ प्रभात🌇
🌱🍀🌸🌱🍀🌸🌱🍀🌸
कर्मों की आवाज़
शब्दों से भी ऊँची होती है…!
“दूसरों को नसीहत देना
तथा आलोचना करना
सबसे आसान काम है।
सबसे मुश्किल काम है
चुप रहना और
आलोचना सुनना…!!”
यह आवश्यक नहीं कि
हर लड़ाई जीती ही जाए।
आवश्यक तो यह है कि
हर हार से कुछ सीखा जाए

🎀मंगलमय सुबह🎀
🍂सुप्रभात🍃
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

अपनी जिंदगी के किसी भी दिन को मत कोसना

🌞💐🌹 हरि ॐ 🌹💐🌞

चींटी से मेहनत सीखिए
बगुले से तरकीब
और
मकड़ी से कारीगरी।

अपने विकास के लिए अंतिम समय
तक संघर्ष कीजिए।
संघर्ष ही जीवन है।

“अपनी जिंदगी के
किसी भी दिन को मत कोसना”.
“क्योंकि;”
“अच्छा दिन खुशियाँ लाता है”
“और बुरा दिन अनुभव;.”.
“एक सफल जिंदगी के लिए
दोनों जरूरी होती है” ♈

🌹🌷 शुप्रभात 🌷🌹

लड़की वाले- हमें ऐसा लड़का चाहिए जो …

लड़की वाले- हमें ऐसा लड़का चाहिए
जो कुछ खाता पीता ना हो, और कुछ
गलत काम ना करता हो।
.
.
.
.
.
पंडित- ऐसा लड़का तो आपको ICU के
इमरजेंसी वार्ड में ही मिलेगा।
😂😂😂😂😂😂

मुस्कुराना सीखिये …..

🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂
.🍃 मदद करना सीखिये
.🍂 फायदे के बगैर.

.🍃 मिलना जुलना सीखिये
.🍂 मतलब के बगैर.

.🍃 जिन्दगी जीना सीखिये
.🍂 दिखावे के बगैर.

.🍃 मुस्कुराना सीखिये
.🍂 सेल्फी के बगैर.

. और

.🍃 प्रभु पर विश्वास रखिये
.🍂 किसी शंका के बगैर

.🍃 🙏🏻 सुप्रभातम् 🙏

Nobody is a friend or an enemy of other persons

न कश्चित् कस्यचिन्मित्रं न कश्चित् कस्यचित् रिपुः।
अर्थतस्तु निबध्यन्ते मित्राणि रिपवस्तथा।।

न तो कोई किसी का मित्र होता है और न कोई शत्रु होता है। धन संपत्ति और व्यक्तिगत हित ही वे कारण होते हैं जो व्यक्तियों के बीच में मित्रता और शत्रुता स्थापित करते हैं।

Nobody is a friend or an enemy of other person/s. It is the wealth and motive to further one’s interests, which acts as a binding force between persons turning them into friends or enemies.

शुभ दिन हो।

🌸🌹💐 🙏🏼